❤दो पल मां बाप के पास❤

दो पल मां बाप के पास

बैठ जा दो पल मां बाप के पास
जिनकी तू ही है इकलौती आस
दिन-रात एक किया तेरे लिए
एक पल ना किया आराम
ताकि बना पाए
तेरी ख्वाहिशों का मकान !!

मां जिसने नो महीने तेरे लिए
सारे कष्ट सहे
आज भी तेरी सलामती की
दुआ करें
बाप जिसने चलना सिखाया
साया बन हर पल साथ निभाया

तू सच में व्यस्त हैं या फिर यूं ही
बतलाता है !!
बहाना देखकर
एक दिन उन्हें वृद्ध आश्रम छोड़
आता है !!
एक बात याद रख जो आज कर रहा है
तेरी औलाद वह सब देख रही है
वह भी इस रिबाज को
बड़े चाव से सीख रही है

वक्त है अभी भी संभल जा
अपने आप को पत्थर दिल ना बना

बैठ जा दो पल मां बाप के पास
जिनकी तू ही है इकलौती आस

 

✍️शिवानी✍️

About the author

Shivani Sandhya Sharma

I write what I feel
क्योंकि जो युवा कभी ना कर पाए वह शब्द कर जाते हैं और कलंकी से हाई से अपना अलग मुकाम बनाते हैं।

View all posts

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.